Cryptocurrency पर कितना GST लगेगा?

सोशल मीडिया पर शेयर करके आगे बढ़ाये

भारत में लगभग 2 करोड़ से ज्यादा लोग क्रिप्टो में अपने पैसे को इनवेस्ट या ट्रेड कर रहे हैं । वहीं अगर टोटल वैल्यू की बात करें तो भारतीयों ने लगभग 5.3 बिलियन डॉलर का क्रिप्टोकरंसी होल्ड किया हुआ है. क्रिप्टो करेंसी में युवाओं और महिलाओं ने भी काफी पैसे इन्वेस्ट किए हुए हैं। ऐसे में सरकार के द्वारा लाए जा रहे क्रिप्टो करेंसी पर नए नए नियम हमें शॉक करते जा रहा है.

सरकार ने पिछले महीने अप्रैल से ही क्रिप्टो करेंसी की कमाई पर 30 परसेंट का भारी भरकम टैक्स और एक परसेंट का टीडीएस लेना शुरू कर दिया है. ऐसे में सूत्रों के मुताबिक आ रहे हैं नई खबर क्रिप्टोकरंसी पर जीएसटी हमें और भी शॉक करते जा रहा है। जिससे क्रिप्टो में निवेश करना मुश्किल होते जा रहा है और साथ साथ क्रिप्टो बहुत ज्यादा रिस्की (risky) भी है.

तो आइए इस पोस्ट में उन सारे क्रिप्टो संबंधित प्रश्न के उत्तर को क्लियर करते हैं जो हमारे मन में उठ रहे हैं? जैसे कि क्या क्रिप्टोकरंसी भारत में लीगल है, भारत में क्रिप्टो करेंसी की कमाई पर पहले से कितना पर्सेंट टैक्स लगता है, क्या क्रिप्टोकरंसी पर जीएसटी लगेगा और क्या क्रिप्टो करेंसी की कमाई लॉटरी जैसा है?

Cryptocurrency par Tax kitna

क्या क्रिप्टोकरंसी भारत में वैध (Legal) है?

क्रिप्टो करेंसी में जीएसटी लगेगा या नहीं इसके बारे में जानने से पहले आइए जानते हैं कि क्रिप्टोकरंसी भारत में वैध है या नहीं। तो इसका साफ शब्दों में उत्तर है। नहीं, भारत में क्रिप्टोकरंसी वैध नहीं है । लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं है कि क्रिप्टोकरंसी भारत में अवैध है.

सरकार क्रिप्टोकरंसी की कमाई पर इस महीने अप्रैल से ही 30 परसेंट का टैक्स ले रही है। लेकिन उन्होंने साफ शब्दों में यह कहा है कि टैक्स लेने का मतलब यह नहीं है कि भारत में क्रिप्टोकरंसी वैध है। सरकार अभी भी क्रिप्टोकरंसी को रेगुलेट करने के बारे में बातचीत कर रही है. हो सकता है भविष्य में क्रिप्टोकरंसी को कानूनी दर्जा दिया जाए लेकिन अभी तक इसे कानूनी दर्जा नहीं दिया गया है। इसमें ट्रेड या इन्वेस्ट आप अपने रिस्क पर कर सकते हैं.

भारत में क्रिप्टो करेंसी की कमाई पर कितना पर्सेंट टैक्स लगता है?

सरकार पहले से ही क्रिप्टो पर दो तरह के टैक्स लगाया हुआ है। भारत में क्रिप्टो करेंसी की कमाई पर सरकार ने पिछले महीने अप्रैल से 30 परसेंट का टैक्स लेना शुरू कर दिया है। साथ साथ एक परसेंट का टीडीएस भी ले रहा है। तो चलिए उदाहरण से दोनों टैक्स को समझते हैं। पहले हमलोग 30 परसेंट टैक्स का नियम समझेंगे उसके बाद एक परसेंट टीडीएस का नियम।

30% टैक्स का नियम:

जैसे आपने कोई भी क्रिप्टोकरंसी या एनएफटी को बेचा उसके लाभ पर आपको 30 परसेंट का टैक्स देना होगा। उदाहरण से समझते हैं, माना कि आपने ₹1,00,000 का क्रिप्टो या एनएफटी खरीदा और उसे आपने 1,20,000 में बेच दिया। तो यहां पर आपको ₹20,000 का फायदा होता है। लेकिन यह 20,000 रूपये आपके पूरे नहीं है। यहां पर आपको अपने फायदे पर 30 परसेंट का टैक्स सरकार को देने होंगे.

यानी 20,000 रूपया का 30 परसेंट ₹6,000 आपको सरकार को देने होंगे । उसे बाद आपका नेट प्रॉफिट ₹14,000 ( 20,000- 6,000) होगा। तब जाकर 14,000 रूपया पूरी तरीके से आपका होगा। हां अगर आप खरीदे हुए क्रिप्टो या एनएफटी को कम दाम में बेचते हैं या आपको नुकसान हो जाता है, तो आपको 30 परसेंट का टैक्स नहीं लगेगा.

एक परसेंट टीडीएस (TDS) का नियम

यह एक परसेंट का टीडीएस आपको हर क्रिप्टोकरंसी के ट्रांजैक्शन करने पर कटेगा। जब भी आप क्रिप्टोकरंसी को बेचोगे या कोई भी रिलेटिव फ्रेंड्स, फैमिली को ट्रांसफर करोगे तो आपका एक परसेंट का टीडीएस कटेगा। एक परसेंट का टीडीएस आपको फायदा या नुकसान दोनों पर कटेगा। आप जिस प्लेटफार्म या एप ( apps) के द्वारा क्रिप्टोकरंसी बेच रहे होंगे उसी टाइम एक परसेंट का टैक्स आप से लिया जाएगा.

तो आइए उदाहरण से समझते हैं। मान ले कि हमने ₹1,00,000 का बिटकॉइन खरीदा और उसे ₹1,00,000 में ही बेच दिया। तो बेचते समय ही आपका 1,00,000 रूपया 1 परसेंट टैक्स के रूप में कट जाएगा । यानी ₹1,000 हमारा टैक्स में जाएगा। और आपके पास बचेंगे ₹99,000। हालांकि टीडीएस से हो रहे नुकसान को आप साल के अंत में इनकम टैक्स के साथ सेट ऑफ कर सकते हैं.

तो सरकार इन दो टैक्स के अलावा क्रिप्टो पर जीएसटी टैक्स भी लगाने वाला है। तो आइए अगले सेक्शन में समझते हैं कि क्रिप्टो पर जीएसटी टैक्स कब से लागू होगा, क्या संभावना है, कितने पर्सेंट जीएसटी लगेगा.

भारत में क्रिप्टोकरंसी पर जीएसटी लगेगा?

सूत्रों के मुताबिक जीएसटी काउंसिल ने 28 परसेंट जीएसटी (GST) क्रिप्टोकरंसी या एनएफटी के लेनदेन से होने वाली आय पर लगाने वाला है। सरकार ने अभी कोई भी क्रिप्टो पर जीएसटी टैक्स नहीं लगाया है। लेकिन संभावना है कि होने वाले अगले वित्तीय बैठक के बाद क्रिप्टो पर जीएसटी टैक्स भी लगे। यह 28 परसेंट का जीएसटी टैक्स आपका क्रिप्टोकरंसी पर लग रहे 30 फ़ीसदी टैक्स और 1 फ़ीसदी टीडीएस के अलावा होगा.

यानी अगर सरकार क्रिप्टोकरंसी पर जीएसटी लगाती है तो आपको तीन तरह के टैक्स देने होंगे। पहला 30 परसेंट का टैक्स, दूसरा 1 परसेंट का टीडीएस ( TDS) और तीसरा 28 परसेंट का जीएसटी। आपका 30 परसेंट टैक्स और 28 परसेंट जीएसटी होने वाले कमाई पर लगने वाला है, वही 1 परसेंट का टीडीएस आपको हर ट्रांजैक्शन पर लगेगा। अगर बात करें तो जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक इस महीने मई में ही होने की आशा है.

क्या क्रिप्टो करेंसी की कमाई लॉटरी जैसा है?

अगर भारत सरकार क्रिप्टोकरंसी की कमाई पर जीएसटी को लागू करता है तो क्रिप्टोकरंसी की कमाई भी लॉटरी जैसा होगा। क्योंकि वर्तमान समय में कसीनो, सट्टेबाजी, लॉटरी पर 30 परसेंट टैक्स के साथ-साथ 28 पर्सेंट जीएसटी लगता है.

इस तरह से डिजिटल ऐसेट जैसे कि क्रिप्टोकरंसी, एनएफटी (NFT) से होने वाला कमाई भी लॉटरी की तरह हो जाएगा । क्योंकि सरकार पहले से ही डिजिटल एसेट और क्रिप्टोकरंसी की कमाई पर 30 परसेंट का टैक्स और एक परसेंट का टीडीएस भी ले रही है और संभावना है कि 28 पर्सेंट का अतरिक्त जीएसटी भी लेना शुरू कर सकती है.

आशा करता हूं कि ये पोस्ट आपको पसंद आया होगा। साथ-साथ आपके सारे क्रिप्टो संबंधित प्रश्न जैसे कि क्रिप्टोकरंसी पर जीएसटी लगेगा या नहीं, क्रिप्टोकरंसी पर कितने पर्सेंट का जीएसटी लगेगा, क्रिप्टोकरंसी पर पहले से कितना परसेंट का टैक्स लग रहा है, क्या क्रिप्टोकरंसी भारत में लीगल है, का उत्तर मिल गया होगा। इस पोस्ट के माध्यम से हमने सारे छोटी-छोटी बातों को क्लियर किया है.

जिससे आपको कोई भी संदेह ना रहे। साथ-साथ आपको बता दें कि भारत में अभी भी क्रिप्टोकरंसी को रेगुलेट नहीं किया है. हां क्रिप्टोकरंसी पर टैक्स लिए जा रहे हैं।  पिछले महीने अमेरिका के दौरे पर गई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अभी भारत सरकार क्रिप्टोकरंसी के फायदे एवं नुकसान को और भी बारीकी से अध्ययन करना चाहती है. ताकि क्रिप्टोकरंसी के कारण हो रहे किसी तरह की मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग इत्यादि को रोका जा सके.

साथ-साथ वित्त मंत्री ने एक ग्लोबल रेगुलेशन की भी बात की अब तो आने वाले दिन ही बताएंगे कि क्रिप्टोकरंसी का क्या होगा. लेकिन यह बात क्लियर है कि क्रिप्टोकरंसी एवं डिजिटल एसेट की स्वीकार्यता तेजी से बढ़ रही है. लोग इसे तेजी से अपना रहे हैं क्योंकि क्रिप्टोकरंसी ब्लॉकचेन जैसे हाई सिक्योरिटी टेक्नोलॉजी पर आधारित है.

बोनस: IOSCO एक इंटरनेशनल आर्गेनाइजेशन है इसके चेयरमैन Ashley Alder ने एक न्यूज़ रिपोर्ट में कहा है की हो सकता है. अगले साल हो सकता है की सभी Cryptocurrencies को रेगुलेट किया जाए ताकि मार्किट में इस तरह के गिरावट देखने को ना मिले और लोगो के साथ होने वाले स्कैम को कम किया जा सके.

यहाँ पर बताया गया है की इंडिया में Cryptocurrency पर कितना GST लगता है? क्योकि कुछ समय पहले यूनियन बिल में इसके बारे में बताया गया है था की अब से जितने भी डिजिटल कोइन्स है सभी पर टैक्स लगेगा और अब यह सभी डिजिटल coins पर लागू हो गया है. ऐसे में अगर आप किसी भी डिजिटल करेंसी में पैसे लगाने के बारे में सोच रहे है तो इसे जरूर पढ़े.

1 thought on “Cryptocurrency पर कितना GST लगेगा?”

Leave a Comment